एक सौ आठ कड़ियों में तीसरी कड़ी

बृहस्पत

बिधाता, जगत गुरु एवं ब्रह्मा जी महाराज
श्री ब्रह्मा जी महाराज दोनों जहां और त्रैलोकी का मालिक
मित्र ~ सूर्य, चंद्र एवं मंगल
शत्रु ~ बुध एवं शुक्र
सम ~ शनि, राहु एवं केतु
मशनुई ~ सूर्य एवं शुक्र

🌺ख़ाना नम्बर ३🌺

शेरों का नामी शिकारी, गर्जता शेर व खानदानी गुरु, ख्वैश व अकारिब के ताल्लुक का मालिक, बुजदिल, मनहूस, मंदभाग

🥀वस्तुएं🥀

दुर्गा पूजन, तालीम, दुनियादारी

🌸संक्षिप्त फल कथन🌸

१~ घर आए व्यक्ति की सेवा करने वाला।
२~ दान धर्म में विश्वास रखने वाला।
३~ इच्छा पूर्ति हेतु अच्छे बुरे दोनों ही तरीके अपनाने वाला।
४~ ३० वर्ष की आयु के पश्चात् बीमार रहने वाला।
५~ लेखन, संपादन, विज्ञापन आदि कार्यों से धन प्राप्त करने वाला।
६~ शेरों का शिकारी, बुलन्द आवाज, योगाभ्यासी, ज्योतिषी, विद्वान, बुद्धिमान, भाई बहन की सेवा करने वाला।
७~ धनवान, लक्ष्मी अवतार, न्यायप्रिय, सरकारी नौकरी, साहसी, वीर इत्यादि गुणों से युक्त।
८~ पारिवारिक एकता एवं औलाद पैदा होने के दिन से और भी तरक्की पाने वाला।
९~ यदि जुल्म करेगा, तो बर्बाद होगा।

🌾नोट🌾

विस्तृत फल कथन हेतु सशुल्क (₹ ७००) सम्पर्क करें।

🌷संक्षिप्त उपाओ🌷

१~ शुभ कार्य करने से पहले छोटी छोटी बच्चियों (६-१० वर्ष) की पूजा कर आशीर्वाद लेना। मीठा भोजन करवाना। चरण स्पर्श करना।
२~ दुर्गा पूजन करना।
३~ चापलूसी न करना।
४~ झूठ न बोलना।
५~ लूटमार, शराब, मांस एवं अंडा न खाना।
६~ हल्दी या केसर का तिलक करना।
७~ घर में शेर, भालू, हाथी आदि की मूर्तियां न रखना।
८~ घर में टूटे खिलौने, टूटी छतरी न रखना।
९~ मन्दिर बनवाने का सामान दान करें।

🍄नोट🍄

विस्तृत उपाओ हेतु सशुल्क (₹ ७००) सम्पर्क करें।

💐लेखक एवं संकलनकर्त्ता💐

सूर्यांक कुमार गुप्ता
ज्योतिष मर्मज्ञ
वैदिक एवं लाल किताब
उपाध्यक्ष – ज्योतिष परिवार™
व्हाट्सऐप ~ ८८४०४००४१७

🍁संकल्प🍁

श्रावण २०७५ में लाल किताब के अन्तर्गत १२ खानों एवं ९ ग्रहों (१२*९=१०८) का क्रमानुसार संक्षिप्त वर्णन (फलकथन एवं उपाओ) करने का संकल्प लिया है, जिसे श्रावण २०७६ तक पूर्ण करने का प्रयास है, अर्थात् प्रत्येक ३-४ दिनों के अन्तराल पर लेख जातकों, विद्यार्थियों एवं ज्योतिषियों हेतु प्रस्तुत किए जाएंगे।

🎄धन्यवाद🎄

🎍ॐॐॐॐॐॐॐ🎍

2 thoughts on “एक सौ आठ कड़ियों में तीसरी कड़ी”

Comments are closed.